राजस्थान के राष्ट्रीय उद्यान एवं वन्य जीव अभयारण्य

राजस्थान के राष्ट्रीय उद्यान एवं वन्य जीव अभयारण्य

National Parks and Wildlife Sanctuaries In Rajasthan In Hindi – राजस्थान भारत के पश्चिमी भाग में मौजूद एक सुंदर राज्य है, जो ज्यादातर अपने शाही अतीत के लिए जाना जाता है। इसके अलावा यह एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल भी है जो हर साल हजारों भारतीय और विदेशी पर्यटकों की मेजबानी करता हैं। आपको बता दे भारत का शाही राज्य राजस्थान उत्कृष्ट किलों, भव्य हवेलियों, शानदार महल, लक्जरी होटलों और लोकप्रिय झीलों के अलावा राष्ट्रीय उद्यानो के लिए भी प्रसिद्ध हैं। राजस्थान में राष्ट्रीय उद्यान भारत के अन्य राष्ट्रीय उद्यानों की तुलना में अद्वितीय हैं, क्योंकि राजस्थान के पार्को में बड़े पैमाने पर रेगिस्तान में पाए जाने वाले प्राकृतिक विविधता को दर्शाते हैं। जहाँ पक्षियों की एक विस्तृत विविधता देखने को मिलती हैं।

3,42,000 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैले, राज्य में भंडार और अभयारण्यों के रूप में संरक्षित जंगल हैं। राजस्थान राज्य बाघों और तेंदुओं सहित कई मुख्य लुप्तप्राय प्रजातियों का निवास है, जो हर साल हजारों प्रकृति प्रेमियों को आकर्षित करता है। तो हम आपको अपने इस लेख में राजस्थान के प्रसिद्ध राष्ट्रीय उद्यानो के बारे में बताने जा रहे है इसीलिए इस लेख को पूरा जरूर पढ़े –

Wildlife Sanctuary in Rajasthan – राजस्थान के राष्ट्रीय उद्यान एवं वन्य जीव अभयारण्य


Wildlife Sanctuary in Rajasthan – राजस्थान के राष्ट्रीय उद्यान एवं वन्य जीव अभयारण्य निम्नलिखित हैं:

राजस्थान स्थित राष्ट्रीय उद्यान

रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान

Tiger : Ranthambhore National Park
  • स्थान :— सवाई माधोपुर
  • क्षेत्रफल :— 392 वर्ग किमी.
  • स्थापना वर्ष :— 1980
  • वन्य जीव :— बाघ, बघेरा, चीतल, सांभर, नीलगाय, रीछ, जरख एवं चिंकारा
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :— धौंक वृक्ष तथा ढाक

केवलादेव

Flamingo : Keoladev National Park
  • स्थान :— भरतपुर
  • क्षेत्रफल :— 28.73 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :— 1981
  • वन्य जीव :— आप्रवासी पक्षी
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :— बबूल, कदम्ब, जामुन

सरिस्का

Leopard: Sariska National Park
  • स्थान :— अलवर
  • क्षेत्रफल :— 273.8 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :— 1982
  • वन्य जीव :— बाघ, सियागोश बिल्ली, मोर
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :— धोकड़ा, कौंच की फली, सालर

राष्ट्रीय मरू उद्यान

Godawan : Desert National Park
  • स्थान :— जैसलमेर-बाड़मेर
  • क्षेत्रफल :— 3,162.00 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :— 1992
  • वन्य जीव :— मरूबिल्ली, गोडावण
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :— खेजड़ी, बेर, सेवण, फोग

मुकुन्द्रा हिल्स, दर्रा राष्ट्रीय उद्यान

Cheetal : Mukundara Hills
  • स्थान :— कोटा
  • क्षेत्रफल :— 200.54 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :— 2006
  • वन्य जीव :— चीतल, सांभर, चिंकारा भेड़िया
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :— बबूल, इमली, बेर, ढाक

राजस्थान स्थित वन्य जीव अभयारण्य ( Wildlife Sanctuary in Rajasthan )

सरिस्का

  • स्थान :— अलवर
  • क्षेत्रफल :— 219.00 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :— 1955
  • वन्य जीव :— बाघ, सियागोस, बिल्ली, मोर
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :— धोकड़ा, कौंच की फली, सालर

रामसागर

  • स्थान :— धौलापुर
  • क्षेत्रफल :— 34.40 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :— 1955
  • वन्य जीव :— गीदड़, भेड़िया
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :— धोकड़ा, खैर, गोया

केसर बाग

  • स्थान :— धौलपुर
  • क्षेत्रफल :— 14.76 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :— 1955
  • वन्य जीव :— भेड़िया, जरख, लोमड़ी, चीतल
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :— धोकड़ा, कुमठा, रोंज

वन-विहार

  • स्थान :— धौलपुर
  • क्षेत्रफल :— 25.60 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :— 1955
  • वन्य जीव :—
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :— कमल

दर्रा

  • स्थान :— कोटा-झालावाड़
  • क्षेत्रफल :— 80.75 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :— 1955
  • वन्य जीव :— बघेरा, गागरोनी तोता
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :— धोकड़ा, खैर, तेन्दू, बिया

राजस्थान के प्रमुख बांध & प्रमुख झीलें

जयसमन्द

  • स्थान :—उदयपुर
  • क्षेत्रफल :—52.34 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :—1955
  • वन्य जीव :—बघेरा, लकड़बग्घा
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :—केवड़ा, ढाक

माउण्ट आबू

  • स्थान :—सिरोही
  • क्षेत्रफल :—112.98 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :—1960
  • वन्य जीव :—जंगली मु्र्गे, बघेरा
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :—आम, जामुन, गूलर

तालछापर

  • स्थान :—चुरू
  • क्षेत्रफल :—7.19 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :—1971
  • वन्य जीव :—काला हिरण, प्रवासी पक्षी
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :—मोथिया घास, लाना झाड़ियाँ

कुम्भलगढ़

  • स्थान :—पाली-उदयपुर राजसमन्द
  • क्षेत्रफल :—608.57 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :—1971
  • वन्य जीव :—भेडिया, लकड़बग्धा
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :—धोकड़ा सालर, चन्दन

जवाहर सागर

  • स्थान :—कोटा
  • क्षेत्रफल :—153.41 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :—1975
  • वन्य जीव :—घड़ियाल, मगरमच्छ
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :— धोकड़ा, बांस

सीतामाता

  • स्थान :—चित्तौड़गढ़-उदयपुर
  • क्षेत्रफल :—422.94 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :—1979
  • वन्य जीव :—उड़न गिलहरी, रीछ
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :—सागवान, बांस, महुआ

राष्ट्रीय घड़ियाल अभयारण्य

  • स्थान :—कोटा-सवाई माधोपुर-बूंदी-धौलुपर-करौली बूंदी
  • क्षेत्रफल :—280.00 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :—1979
  • वन्य जीव :—घड़ियाल, मगरमच्छ
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :—बबूल, खैर, शीशम

राष्ट्रीय मरू उद्यान

  • स्थान :—जैसलमेर-बाड़मेर
  • क्षेत्रफल :—3,162.00 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :—1980
  • वन्य जीव :—मरूबिल्ली, गोडावण
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :—खेजड़ी, बेर, सेवण, फोग

नाहरगढ़

  • स्थान :—जयपुर
  • क्षेत्रफल :—50.00 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :—1980
  • वन्य जीव :—सियार, नीलगाय, बघेरा
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :—धोकड़ा, सालर, तेन्दू

रामगढ़-विषधारी

  • स्थान :—बूंदी
  • क्षेत्रफल :—252.79 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :—1982
  • वन्य जीव :—बाघ, साभंर, सूअर
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :—धोकड़ा, चुरैल

जमवा रामगढ़

  • स्थान :—जयपुर
  • क्षेत्रफल :—300.00 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :—1982
  • वन्य जीव :—बघेरा, जरख, भेड़िया
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :— खस, आम

भैंसरोड़गढ़

  • स्थान :—चित्तौड़गढ़
  • क्षेत्रफल :—229.14 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :—1983
  • वन्य जीव :—बघेरा, रीछ
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :—धोकड़ा, सालर, गुर्जन

शेरगढ़-अचरौली

  • स्थान :—बारां
  • क्षेत्रफल :—98.71 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :—1983
  • वन्य जीव :—बघेरा, जरख, रीछ
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :—चिरौंजी, बिया, बेल

टाटगढ़-रावली

  • स्थान :—अजमेर-पाली
  • क्षेत्रफल :—463.0 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :—1983
  • वन्य जीव :—बघेरा, रीछ, जरख
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :—धोकड़ा,धावड़ा, सालर

कैला देवी

  • स्थान :—करौली
  • क्षेत्रफल :—676.38 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :—1983
  • वन्य जीव :—बघेरा, रीछ, जरख
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :—धोकड़ा

फुलवारी की नाल

  • स्थान :—उदयपुर
  • क्षेत्रफल :—492.68 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :—1983
  • वन्य जीव :—बघेरा, जरख, वनबिलाव
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :—सागवान, महुआ, धोकड़ा

Climate Regions of Rajasthan-राजस्थान के जलवायु प्रदेश

सवाई मानसिहं

  • स्थान :—सवाई माधोपुर
  • क्षेत्रफल :—127.76 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :—1984
  • वन्य जीव :—बाघ, बघेरा
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :—रोहिड़ा

बन्ध बरेठा

  • स्थान :—भरतपुर
  • क्षेत्रफल :—199.50 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :—1985
  • वन्य जीव :—प्रवासी पक्षी
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :—मारवी, सेमल, घटबोर

सज्जनगढ़

  • स्थान :—उदयपुर
  • क्षेत्रफल :—5.19 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :—1987
  • वन्य जीव :—सांभर, चीतल
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :—धोकड़ा, सालर, धावड़ा

बस्सी

  • स्थान :—चित्तौड़गढ़
  • क्षेत्रफल :—138.69 वर्ग किमी
  • स्थापना वर्ष :—1988
  • वन्य जीव :—बघेरा, जरख
  • प्रमुख वृक्ष प्रजातियां :—ढ़ाक, सागवान, बांस

Related Posts

उत्तर प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्थल | Tourist Places in Uttar Pradesh

उत्तर प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्थल | Tourist Places in UP Tourist Places in UP – उत्तर प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्थल निम्नलिखित हैं: मथुरा      कृष्ण जन्मभूमि ·…

उत्तर प्रदेश की प्रमुख जनजातियाँ | Tribes of Uttar Pradesh

उत्तर प्रदेश की प्रमुख जनजातियाँ | Tribes of Uttar Pradesh Tribes of Uttar Pradesh – उत्तर प्रदेश की प्रमुख जनजातियाँ निम्न प्रकार हैं: उत्तर प्रदेश की प्रमुख अनुसूचित…

उत्तर प्रदेश के प्रमुख मेले व् उत्सव / Major Fairs and Festivals of Uttar Pradesh

जब किसी एक स्थान पर बहुत से लोग किसी सामाजिक ,धार्मिक एवं व्यापारिक या अन्य कारणों से एकत्र होते हैं तो उसे मेला कहते हैं। भारतवर्ष में…

उत्तर प्रदेश के प्रमुख लोक नृत्य की सूची | Folk Dance of Uttar Pradesh

नमस्कार! दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे उत्तर प्रदेश राज्य के (Folk Dance of Uttar Pradesh) प्रमुख लोक नृत्य के बारे में, जोकि परीक्षा की…

Airports in Uttar Pradesh

इस पोस्ट में हम उत्तर प्रदेश के प्रमुख हवाई अड्डों की सूची आप सभी के साथ शेयर कर रहे हैं। तो आइये जानें उत्तर प्रदेश के प्रमुख…

भारत में प्रथम व्यक्ति (सूची)- First Person in India PDF List (Exam Notes)

भारत में हर वर्ष कई विभागों में सरकारी नौकरियां निकलती रहती है। सरकारी परीक्षाओ में बैठने वालो की संख्या भी हर वर्ष बढ़ती जा रही है। भारत…

Leave a Reply

Your email address will not be published.