दिल्ली विश्वविद्यालय ने शिक्षक व छात्र संगठनों के विरोध के बाद भी 4 जुलाई से ओपन बुक परीक्षा के लिए मॉक टेस्ट की सारिणी घोषित कर दी। डीयू 4 जुलाई से 8 जुलाई के बीच यह मॉक टेस्ट आयोजित करेगा। डीयू ने इसकी विस्तृत गाइडलाइन भी अपनी वेबसाइट पर निकाला। जिससे हर चरण के बारे में छात्र अवगत हो सकें और उनको मॉक टेस्ट देने में परेशानी न हो। यह मॉक टेस्ट दिन में तीन चरण में होंगे सुबह 7.30 से शुरू होंगे और शाम 6.30 बजे समाप्त होंगे।

मॉक टेस्ट देने के लिए पांच चरण महत्वपूर्ण

# पहला चरण

इसमें सबसे पहले छात्र को एक बार अपना पंजीकरण डीयू के पोर्टल पर करना होगा।
नाम, नामांकन संख्या (वैकल्पिक), कार्यक्रम का नाम, जन्म तिथि, जैसे विवरण
परीक्षा रोल नंबर, पंजीकृत ई-मेल या मोबाइल फोन नंबर भरना होगा। छात्रों को उनके पास एक पासवर्ड प्राप्त होगा। इससे छात्र लाग इन कर सकता है।

# दूसरा चरण

छात्रों को अपने परीक्षा रोल नंबर के साथ परीक्षा पोर्टल को परीक्षा शुरू होने से 30 मिनट पहले लाग इन करना होगा।Ø स्टूडेंट पोर्टल में प्रवेश करने के बाद, छात्रों की स्क्रीन पर एक घड़ी प्रदर्शित करेगा। जिससे छात्रों को समय का पता चलेगा। यहां छात्र को डाउनलोड का बटन दिखाई देगा अब इस पर क्लिक करने से प्रश्नपत्र डाउनलोड हो जाएगा। यदि किसी छात्र को इसे डाउनलोड करने में परेशानी हो रही है तो वह अपने कॉलेज से संपर्क कर सकता है।

# तीसरा चरण

परीक्षा की कुल समय सीमा 3 घंटे है। दिव्यांग छात्रों के लिए समय अधिक है। जिसमें प्रश्नों के उत्तर के लिए दो घंटे तकनीकी कार्यों के लिए 1 घंटे का सयम दिया गया है। दिव्यांग छात्रों के लिए परीक्षा की कुल अवधि पांच घंटे की होगी।

# चौथा चरण

छात्र को ए 4 साइज के सफेद पेपर पर प्रश्नों के उत्तर लिखने होंगे। उत्तर लिखने के लिए छात्र काले या नीले रंग की कलम का उपयोग कर सकते हैं।

# पांचवां चरण

सभी उत्तर लिखने के बाद छात्र को पोर्टल पर अपनी लिखी हुई स्व हस्ताक्षित उत्तर पुस्तिका को स्कैन कर अपलोड कर देना है।

डीयू के परीक्षा विभाग ने यह स्पष्ट किया है कि यह केवल मॉक टेस्ट है।