rbi notifies merger of 10 banks into 4 banks

1 अप्रैल से 10 बैंकों के विलय से बनेंगे 4 बैंक, RBI की अधिसूचना जारी

Edu Blog

10 बैंकों का विलय कर 4 बैंक बनाने की अधिसूचना आरबीआई ने जारी कर दी है। ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स तथा यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया की शाखाएं पंजाब नैशनल बैंक (PNB) की शाखाओं के रूप में काम करेंगी। वहीं, सिंडिकेट बैंक केनरा बैंक के रूप में काम करेगा।

हाइलाइट्स

10 बैंकों का विलय कर 4 बैंक बनाने की अधिसूचना आरबीआई ने जारी की

ओबीसी तथा यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया की शाखाएं PNB की शाखाओं के रूप में काम करेंगी

सिंडिकेट बैंक केनरा बैंक के रूप में काम करेगा

आंध्र बैंक तथा कॉर्पोरेशन बैंक की शाखाएं यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के रूप में काम करेंगी

1 अप्रैल से आपका बैंक बदलने वाला है, क्योंकि देश के 10 सरकारी बैंकों का विलय कर चार बड़े बैंक बनाने की कवायद अपने अंतिम चरण में है। 1 अप्रैल को इन 10 बैंकों के विलय से चार बड़े बैंक बनेंगे जो देश के वित्तीय क्षेत्र का सबसे बड़ा विलय होगा। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने शनिवार को इस विलय को अधिसूचित कर दिया, जो इस महीने की शुरुआत में जारी एक अधिसूचना के जरिए लागू हो जाएगा।

ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स तथा यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया की शाखाएं पंजाब नैशनल बैंक (PNB) की शाखाओं के रूप में काम करेंगी। वहीं, सिंडिकेट बैंक केनरा बैंक के रूप में काम करेगा। आंध्र बैंक तथा कॉर्पोरेशन बैंक की शाखाएं यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के रूप में काम करेंगी। जबकि, इलाहाबाद बैंक की शाखाएं इंडियन बैंक की शाखाओं के रूप में काम करेंगी।

बैंक एम्प्लॉयी यूनियंस तथा असोसिएशंस ने इस विलय को विलंबित करने के लिए जी तोड़ कोशिशें कीं, क्योंकि यह लॉकडाउन के समय हो रहा है। उन्होंने कहा है कि जन धन योजना अकाउंट-होल्डर्स को सरकारी फायदे का वितरण एक अतिरिक्त चुनौती है।

जिस बैंक में होगा विलय जिस बैंक का होगा विलय
पंजाब नैशनल बैंक ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया
केनरा बैंक सिंडिकेट बैंक
यूनियन बैंक ऑफ इंडिया आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक
इंडियन बैंक इलाहाबाद बैंक

आरबीआई ने जारी की विज्ञप्ति

रिजर्व बैंक के मुख्य महाप्रबंधक योगेश दयाल द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार इलाहाबाद बैंक की सभी शाखाएं एक अप्रैल 2020 से इंडियन बैंक की शाखाओं के रूप में काम करेंगी। वहीं इलाहाबाद बैंक के खाताधारक और जमाकर्ता सभी एक अप्रैल 2020 से इंडियन बैंक के ग्राहक के तौर पर माने जाएंगे। केन्द्रीय बैंक की शनिवार को ही जारी एक अन्य विज्ञप्ति में कहा गया है कि आंध्र बैंक और कार्पोरेशन बैंक की सभी शाखाएं एक अप्रैल 2020 से यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के शाखा के तौर पर काम करेंगी। इसी प्रकार आंध्र बैंक और कार्पोरेशन बैंक के ग्राहक, खाताधारक और जमाकर्ता सभी यूनियन बैंक आफ इंडिया के ग्राहक के तौर पर माने जाएंगे।

केंद्र ने किया था फैसला

केन्द्र सरकार ने सार्वजनिक क्षेत्र के 10 बैंकों को आपस में विलय कर चार बड़े बैंक बनाने का फैसला किया था। सरकार ने देश में विश्वस्तरीय बड़े बैंक बनाने के उद्देश्य से सार्वजनिक क्षेत्र के कई बैंकों को मिलाकर बड़े बैंक बनाने का कदम उठाया है। इसी के तहत लिए गए निर्णय के बाद इलाहाबाद बैंक का विलय इंडियन बैंक में और आंध्र बैंक तथा कार्पोरेशन बैंक का विलय यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में किया गया।

2018 में आया था प्लान

बैंक के विलय की योजना सबसे पहले दिसंबर 2018 में पेश की गई थी, जब आरबीआई ने कहा था कि अगर सरकारी बैंकों के विलय से बने बैंक इच्छित परिणाम हासिल कर लेते हैं तो भारत के भी कुछ बैंक वैश्विक स्तर के बैंकों में शामिल हो सकता है।

Tags:- bank merger cabinet approval, which psu banks will merge, bank merger notification, cabinet approves merger of banks, bank merger notification today, canara bank and syndicate bank swap ratio

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *