कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से पूरे देश में 31 मार्च तक यात्री रेल सेवाएं पूरी तरह रद्द कर दी गई हैं.

कोरोना के खिलाफ जंग में ‘जनता कर्फ्यू’ का पूरे देश में कैसा है असर।

बता दें कि देश में 324 लोग अभी तक कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं, जबकि 6 लोगों की मौत हो चुकी है. 22 मार्च, रविवार को इस वायरस के कारण मुंबई और पटना में एक-एक मरीज की मौत हो गई.

उधर, पंजाब प्रशासन ने कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के चलते कुछ दिनों के लिए राज्य के कई जिलों को पूरी तरह से लॉकडाउन करने का आदेश दिया है.


अधिकारियों ने रविवार को इस बात की जानकारी दी. जालंधर, पटियाला, होशियारपुर, कपूरथला, भटिंडा और नवांशहर जिले इसमें शामिल हैं. यहां से सबसे अधिक संक्रमण के मामले सामने आए हैं.

पटियाला में पूरी तरह से लॉकडाउन 24 मार्च तक, जबकि भटिंडा में 27 मार्च तक लागू रहेगा. नवांशहर और होशियारपुर जिलों में सभी प्रतिष्ठानों को 25 मार्च की मध्यरात्रि तक बंद कर दिया गया है, जबकि कपूरथला जिले में सोमवार से एहतियात के तौर पर यह लागू रहेगा.

राजस्थान सरकार ने भी रविवार से 31 मार्च तक टोटल लॉकडाउन का ऐलान किया है. हालांकि, इस दौरान रोजमर्रा की जरूरत वाली सामानों जैसे सब्जी और दूध की दुकानों के साथ-साथ मेडिकल स्टोर खुले रहेंगे. इनके अलावा कोई दुकान नहीं खुलेगी. इससे पहले कुछ राज्यों ने कुछ शहरों में लॉकडाउन किया है लेकिन राजस्थान इसे पूरे सूबे में लागू करने वाला पहला राज्य बना.