पुणे के वैज्ञानिक ने विकसित की ये खास स्टिक, COVID-19 से लड़ने में होगी मददगार

पुणे के वैज्ञानिक डॉ. मिलिंद कुलकर्णी ने COVID-19 रोगियों के नमूने एकत्र करने के लिए पॉलिमर स्वैब विकसित किया है। उन्होंने बताया कि इसे बनाने में पॉलीप्रोपाइलीन सामग्री का इस्तेमाल किया गया है।

महाराष्ट्र में पुणे के वैज्ञानिक डॉ. मिलिंद कुलकर्णी ने COVID-19 रोगियों के नमूने एकत्र करने के लिए पॉलिमर स्वैब विकसित किया है। बता दें कि भारत पॉलिमर स्वैब का आयात करता है और राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के कारण इसकी सप्लाई प्रभावित हुई है। उधर, देशभर में अब तक COVID-19 के 2902 पॉजीटिव मामले आए हैं, जिनमें 2650 सक्रिय, 184 ठीक हुए हैं, जबकि 83 लोगों की मौत हो चुकी है।

मीडिया से बात करते हुए वैज्ञानिक डॉ. मिलिंद कुलकर्णी ने बताया कि इस पॉलिमर-आधारित किट को तैयार करने के लिए हमने पॉलीप्रोपाइलीन सामग्री का इस्तेमाल किया है, इससे स्वैब और पॉलिएस्टर फाइबर की स्टिक बनाई जा रही है। उन्होंने आगे कहा कि भारत पॉलिमर स्वैब का आयात करता है और लॉकडाउन के कारण देश में किटों की सप्लाई नहीं होती है। उन्होंने बताया कि किट को क्लिनिकल ट्रायल के लिए बेंगलुरु में एक सहयोगी के पास भेजा जाएगा।

देश में अब तक COVID-19 के 2902 पॉजीटिव केस

कुलकर्णी ने बताया कि हम बेंगलुरु में अपने सहयोगी डॉ. केएन श्रीधर को किट का प्रोटोटाइप भेजेंगे, जहां इसे एक परीक्षण से होकर गुजारा जाएगा. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और परिवार कल्याण के ताजा बुलेटिन के अनुसार, देश में अब तक COVID-19 के 2902 पॉजीटिव मामले आए हैं, जिनमें 2650 सक्रिय मामले हैं जबकि 184 मरीज अब तक ठीक होकर घर लौट चुके हैं. इसके अलावा देशभर में कोरोना वायरस के चलते अब तक 83 लोगों की मौत हो चुकी है।

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply